Aman Clinic

आजकल बहुत सी अनियमिताओं के चलते बच्चों में सही शारीरिक विकास नहीं हो पा रहा है। वे किशोरावस्था से निकल कर जवानी की उम्र में तो पहुंच गए हैं पर शारीरिक दृष्टि से दुबले पतले होने के कराण वे सामाजिक मजाक का शिकार हो रहे हैं। जिसके चलते वे डिप्रेशन में आ जाते हैं। बहुत सारे उपाय करने पर भी उनका शरीर पतला ही बना रहता है।

यह पुरूष और महिलाओं दोनों में देखा गया है। महिलाएं भी अपने दुबलेपन को लेकर काफी हताश होती हैं। उनका वक्ष सही से विकास नहीं कर पाता और वे नारी सौंदर्य से वचिंत रह जाती हैं। अब कुछ तो ऐसा हो, जो इस तरह के रोगियों को मोटा कर उन्हें हीन भावना से निकाल सके।

अब पहले तो यह समझ लें की यह आपके शरीर को समझ कर किया जाने वाला उपाय है, न कि कैमिस्ट की शॉप पर जाकर किसी भी दवा को लेकर खा लेने से होने वाला। इसलिए किसी भी उत्पाद पर जल्दी से भरोसा कर उसका सेवन ना करें। क्योंकि इससे आपके शरीर को नुकसान हो सकता है। ऐसे में अब आप सोच रहे होगें की आखिर किस पर भरोसा करें।  

तो हम आपको बता दें कि आप आयुर्वेदिक इलाज पर आंख बंद करके भरोसा कर सकते हैं। क्योंकि आयुर्वेदिक इलाज का कोई साइड इफैक्ट नहीं होता है। लेकिन इलाज से पहले आपके लिए ये जानना जरुरी है कि आखिर किन कारणों से व्यक्ति का वजन कम होता है।

वजन कम होने के कारण – Vajan Kam Hone Ke Karan

  • तनाव ज्यादा तनाव लेने के कारण व्यक्ति का स्वभाव चिड़चिड़ा हो जाता है और भूख भी कम लगती है। इसलिए व्यक्ति का वजन कम होता है।
  • शुगर- शुगर के कारण भी वजन घटता है।
  • छोटी आंत में गड़बड़ी- छोटी आंत भोजन पचाने का काम करती है। लेकिन अगर छोटी आंत में किसी तरह की कोई परेशानी आ जाती है तो वह भोजन के जरुरी तत्वों को अवशोषित नहीं कर पाती है। जिस कारण वजन नहीं बढ़ पाता है।
  • थायरड संबंधी समस्या होने पर- हाइपोथायरायडिस्म के रोगी का वजन घटता है
  • टीबी– टीबी के रोगी को भूख कम लगती है। क्योंकि टीबी एक संक्रामक रोग है। इसमें व्यक्ति का वजन तेजी से घटता है और कई बार टीबी ठीक होने के बाद भी रोगी के शरीर में कमजोरी रह जाती है।
  • वात दोष- वात बढ़ने पर जठराग्नि तेज हो जाती है जिस कारण व्यक्ति को भूख ज्यादा लगती है। लेकिन व्यक्ति का वजन नहीं बढ़ता।
  • पेट में अल्सर- अल्सर होने पर रोगी के पेट में अधिक दर्द होता है। जिस कारण रोगी की भोजन के प्रति रुचि कम हो जाती है। और भोजन कम करने की वजह से वजन घटता है।
  • कैंसर होने पर- कैंसर के अधिकतर मामलों में ज्यादा उम्र वालें रोगी का वजन तेजी से घटता है। क्योंकि कैंसर कोशिकाएं तेजी से बढ़ती है। और इसके लिए उन्हें भारी मात्रा में उर्जा की जरुरत होती है।
  • नशा करने से- नशा करने वाले व्यक्ति भी दुबलेपन का शिकार हो जाते हैं। नशा करने वाले लोगों की भूख मर जाती है।

वजन बढ़ाने का आयुर्वेदिक इलाज- Vjan Bdhane ka Ayurvedic Ilaj

एक कुशल चिकित्सक आपके मैटाबॉलेज्म का सही निरिक्षण कर आपको उपचार दे तो आपकी यह समस्या खत्म हो सकती है। अगर आप भी अपना वजन बढ़ाना चाहते हैं, तो देर किस बात की, चले आएं अमन आयुर्वेदिक क्लीनिक, पानीपत। हमारे विशेषज्ञ सही उपचार देकर आपका वजन बढ़ाने में आपकी मदद करेंगे।

अगर आप दवाओं के साइड इफैक्ट से डरते हैं और इस कारण इलाज करवाने से डरते हैं। तो निश्चिंत हो जाएं। Aman Ayurvedic Clinic पर आयुर्वेदिक औषधियों द्वारा इलाज किया जाता है जिनका कोई साइड इफैक्ट नहीं होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *